जिगर

जिगर में
हजारों कांटे हैं
हजारों
कांटों में जिगर है

सारे कांटे
हर वक़्त यही कहते
वाह !
तेरा भी
क्या जिगर है ?





कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

  © Free Blogger Templates 'Photoblog II' by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP